कोई भी व्यक्ति छोटी,बड़ी नालियों व नाला में कचरा, झिल्ली,पन्नी, डिस्पोजल न फेकें : नालों की निगम ने करायी सफाई

दुर्ग |जगजीत सिंह | शहर के बीच से गुजरने वाले बड़े नालों के मुहाने पर अधिक मात्रा में झिल्ली, पन्नी, डिस्पोजल व अन्य कचरों से भर जाने से जाम हो गये थे।उन सभी बड़े नालों की सफाई नगर पालिक निगम दुर्ग द्वारा गैंग लगाकर, जेसीबी के माध्यम से विगत दो माह से किया जा रहा हैं। लगभग 20 से 30 ट्रक कचरा मलमा अब तक निकाला गया है। आयुक्त इंद्रजीत बर्मन ने समस्त शहर वासियों से अपील कर कहा कि कोई भी व्यक्ति, किसी भी वार्ड का निवासी किसी भी प्रकार का कचरा झिल्ली, पन्नी, डिस्पोजल आदि नालों में न डालें।नालों की सफाई आपके वार्ड क्षेत्र की छोटी-बड़ी नालियों से पानी निकासी होने का जरिया होता है।अतः नालियों, नाला में झिल्ली, पन्नी, डिसपोजल व अन्य कचरा डालकर नाला को जाम न करें।


इस संबंध में उन्होंने शहर वासियों से अनुरोध कर बताया कि आपके वार्ड, मोहल्ला क्षेत्र की छोटी- बड़ी नालियाॅ किसी न किसी तरह से बड़े नालोें में आकर मिलता हैं। आपके द्वारा नालियों में फेके गये झिल्ली, पन्नी, डिस्पोजल व अन्य कचर नालों के मुहानों पर किस प्रकार जमा होता है इसका अंदाजा फोटो देखकर लगा सकते हैं। अब अंदाजा लगायें कि जब नालों के मुहानों पर झिल्ली, पन्नी, डिस्पोजल व अन्य कचर जिस प्रकार जाम रहेगा तो आपके क्षेत्र की छोटी-बड़ी नालियों का पानी कैसे निकासी हो सकेगा और एैसे में आपके क्षेत्र के नालियों में भी कचरा, मलमा जमा रहेगा, गंदगी होगी, मच्छर बढ़ेगा व कई प्रकार की परेशानी होगी। उन्होनें बताया दो माह स ेअब तक 30 से 40 ट्रक मलमा कचरा कसारीडीह नाला, केलाबाड़ी नाला, शंकर नाला और गिरधारी नाला से निकाला गया । नालों से मलमा निकलने के बाद नाला की स्थिति का जायजा लें आपको स्वयं समझ आ जाएगा कि शहर वासियों द्वारा नालियों, नाला में फेके गये कचरों के कारण नालियों में मलमा और कचरा भर जाता है सफाई नहीं हो पाती । निगम द्वारा 15 से 20 लोगों का गैंग लगाकर और जेसीबी मशीन के माध्यम से नालों की सफाई करायी जा रही है। अतः अपील है कि कोई भी व्यक्ति, निवासी नाली में नाला में कहीं का भी कचरा झिल्ली, पन्नी, डिस्पोजल आदि न डालें। उन्होनें आम जनता को बताया कि कचरा लेने के लिए निगम द्वारा कचरा रिक्शा गाड़ी आपके घर तक भेजा जा रहा है आप अपने घरों में डस्टबीन अवश्य रखें। निगम के द्वारा समझाईश देने और जनजागरुक करने के बाद भी जो लोग कचरा डाल दे रहे हैं उनसे जुर्माना भी लिया जा रहा है। दोबारा, तिबारा कचरा डालते पाये जाने पर जुर्माने की राशि अधिक ली जाएगी। उन्होनें कहा हमारा मकसद आपसे जुर्माना लेना नहीं हैं हम चाहते हैं कि आप अपने शहर की स्वच्छता के लिए सजग रहें, साफ-सुथरा वातावरण में रहें।